जय शाह ने जारी किया दो साल का कैलेंडर, बौखला उठा पाकिस्तान

सेठी ने कहा- पीएसएल का कैलेंडर भी जारी करें शाह

Asia Cup
Asia Cup

नई दिल्ली । भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड) के बीच गहराता तनाव साफ नजर आ रहा है जब पीसीबी प्रमुख नजम सेठी ने एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) के दो साल के कैलेंडर की एकतरफा घोषणा करने के लिए बीसीसीआई सचिव जय शाह पर कटाक्ष किया।

गुरुवार को शाह ने एसीसी अध्यक्ष के रूप में अपने ट्विटर हैंडल पर 2023 और 2024 कार्यक्रम की घोषणा की। इसमें प्रतिष्ठित एशिया कप को इस साल सितंबर में जगह दी गई है लेकिन विस्तृत कार्यक्रम और मेजबान देश की घोषणा अभी तक नहीं की गई है।

पाकिस्तान में एशिया खेलने का इच्छुक नहीं भारत

पाकिस्तान इस साल एशिया कप का मूल मेजबान है लेकिन बीसीसीआई दोनों देशों के बीच राजनीतिक तनाव के कारण वहां खेलने का इच्छुक नहीं है। तत्कालीन पीसीबी अध्यक्ष रमीज राजा ने बीसीसीआई के रुख का विरोध किया था और यहां तक कि भारत में 50 ओवर के विश्व कप का बहिष्कार करने की धमकी दी थी।

राजा का तर्क था कि पाकिस्तान को मेजबानी का अधिकार देने का निर्णय एसीसी के निदेशक मंडल की ओर से लिया गया था और शाह टूर्नामेंट को स्थानांतरित करने के बारे में फैसला नहीं कर सकते। बीसीसीआई के पूर्व अधिकारियों के करीबी माने जाने वाले सेठी ने हालांकि शाह द्वारा सुबह कार्यक्रम जारी करने के बाद तीखी प्रतिक्रिया दी।

सेठी ने कहा- पीएसएल का कैलेंडर भी जारी करें शाह

सेठी ने कटाक्ष करते हुए ट्वीट किया, ‘एसीसी पांच और कैलेंडर 2023-24 को एकतरफा रूप से पेश करने के लिए धन्यवाद जय शाह, विशेष रूप से एशिया कप 2023 से संबंधित जिस प्रतियोगिता का मेजबान पाकिस्तान है। जब आप इससे जुड़े हैं तो आप हमारे पीएसएल 2023 के ढांचे और कैलेंडर को भी प्रस्तुत कर सकते हैं।’

एशिया कप 2023 छह टीमों के बीच खेला जाएगा जिसमें भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, बांग्लादेश, अफगानिस्तान और एक क्वालीफायर टीम होगी। श्रीलंका एशिया कप का मौजूदा चौम्पियन है। उसने यूएई में पिछले साल टी20 प्रारूप में खेले गए टूर्नामेंट के फाइनल में पाकिस्तान को हराया था।

भारत कर रहा है वन डे विश्वकप की मेजबानी

भारत इस साल के अंत में एकदिवसीय विश्व कप की मेजबानी करेगा और इसी को ध्यान में रखते हुए एशिया कप को उसी प्रारूप में आयोजित किया जाएगा। समझा जाता है कि दोनों देशों के बीच मौजूदा जटिल सामाजिक-राजनीतिक परिदृश्य के कारण भारत टूर्नामेंट को यूएई में स्थानांतरित करना चाहता है लेकिन पाकिस्तान का तर्क है कि अगर ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और न्यूजीलैंड सुरक्षा के डर के बिना आकर खेल सकते हैं तो वे एक तटस्थ देश में टूर्नामेंट की मेजबानी क्यों करेंगे।

145 एकदिवसीय मैच खेले जाएंगे

बीसीसीआई सचिव और एसीसी अध्यक्ष जय शाह ने अगले दो साल के लिए कैलेंडर जारी करते हुए कहा, ‘यह कार्यक्रम इस खेल को नयी ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए हमारे अद्वितीय प्रयासों और जुनून को दर्शाता है। यह क्रिकेट के लिए अच्छा समय है।’ एसीसी द्वारा घोषित दो साल के चक्र (2023-2024 के बीच) के दौरान कुल 145 एकदिवसीय और टी20 मैच खेले जाएंगे। इसमें 2023 में 75 और 2024 में 70 मैच होंगे।

इसके अलावा कैलेंडर में एमर्जिंग (अंडर-23) एशिया कप की भी वापसी हुई है। इस साल जुलाई में पुरुषों के आठ टीमों के टूर्नामेंट को 50 ओवर के प्रारूप में खेला जाएगा। अगले साल दिसंबर यह टूर्नामेंट टी 20 प्रारूप में होगा। इस साल जून में होने वाला महिला एमर्जिंग एशिया कप टी20 प्रारूप में होगा जिसमें आठ टीमें शामिल होंगी।