Hockey World Cup : भारत का भी जीत से आगाज, स्पेन पर दर्ज की 2-0 से जीत

अमित रोहिदास और हार्दिंक सिंह ने दागे गोल

Hockey World Cup
Hockey World Cup

राउरकेला । पुरूष हॉकी वर्ल्डकप में पहले दिन चार मैच खेले गए थे। चारों ही मैचों में टीमों ने जीत के साथ आगाज किया है। हॉकी वर्ल्डकप में आत्मविश्वास से ओतप्रोत भारतीय टीम ने खचाखच भरे बिरसा मुंडा स्टेडियम में अपने पहले मैच में स्पेन को 2-0 से हराकर शानदार आगाज किया है।

पिछले 48 साल से विश्व कप में पदक का इंतजार कर रही भारतीय टीम की पूल डी में शीर्ष पर रहकर सीधे क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने की उम्मीदों को इस जीत से बल मिला है। भारतीय हॉकी की नर्सरी कहे जाने वाले सुंदरगढ़ जिले के अमित रोहिदास ने जैसे ही 12वें मिनट में पेनल्टी कॉर्नर पर पहला गोल किया, दर्शकों के शोर से पूरा स्टेडियम गूंज उठा।

हार्दिक सिंह ने दागा दूसरा गोल

दुनिया का सबसे बड़ा हॉकी स्टेडियम बताए जा रहे बिरसा मुंडा स्टेडियम पर यह पहला अंतरराष्ट्रीय मैच था। भारत के लिए दूसरा गोल 26वें मिनट में हार्दिक सिंह ने किया जो अकेले गेंद को लेकर सर्कल में गए थे। गेंद पर नियंत्रण के मामले में भारत का दबदबा रहा और जीत का अंतर अधिक भी हो सकता था लेकिन भारत ने पांच में से चार पेनल्टी कॉर्नर गंवाए।

Hockey World Cup : ऑस्ट्रेलिया के अटैक को रोक पाने में नाकाम हुआ फ्रांस, मिली 8-0 से हार

स्पेन को मिले तीन पेनल्टी कॉर्नर

दुनिया के सर्वश्रेष्ठ ड्रैग फ्लिकरों में शुमार कप्तान हरमनप्रीत सिंह पेनल्टी स्ट्रोक पर गोल नहीं कर सके। युवा विकेटकीपर कृशन बहादुर पाठक ने पेनल्टी कॉर्नर समेत कई शानदार बचाव किए। पिछले साल प्रो लीग के चार मैचों में से भारत को दो में हराने वाली स्पेन की टीम को मिले तीनों पेनल्टी कॉर्नर बेकार गए।

भारतीय टीम ने दिखाया आक्रामक खेल

पहले क्वार्टर के आखिरी मिनटों में ही भारत ने आक्रामक खेल दिखाते हुए हमले बोले जिससे उसे लगातार तीन पेनल्टी कॉर्नर मिले और दूसरे पर रोहिदास ने गोल किया। इसके बाद भारत को एक और पेनल्टी कॉर्नर मिला लेकिन हरमनप्रीत गोल नहीं कर सके।

कप्तान हरमनप्रीत गोल करने में रहे नाकाम

दूसरे क्वार्टर में भी भारत का दबदबा रहा और हाफटाइम से चार मिनट पहले हार्दिक ने बायीं ओर से दौड़ते हुए अकेले दम पर शानदार फील्ड गोल दागा। तीसरे और चौथे क्वार्टर में कोई गोल नहीं हो सका। ब्रेक के दो मिनट बाद ही भारत को पेनल्टी स्ट्रोक मिला लेकिन दबाव में दिख रहे हरमनप्रीत गोल करने में नाकाम रहे।