Asia Cup : एसीसी अधिकारियों से मिले सेठी, अब जय शाह से करेंगे मुलाकात

एशिया कप की मेजबानी छीनने पर वन डे वर्ल्डकप से बाहर रह सकता है पाकिस्तान

Asia Cup
Asia Cup

दुबई । इस साल होने वाले एशिया कप की मेजबानी का विवाद अब तक सुलझा नहीं है। एशिया कप की मेजबानी को लेकर पाकिस्तान लगातार प्रयास कर रहा है। इसी प्रयास में पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) के अध्यक्ष नजम सेठी ने संयुक्त अरब अमीरात में एशियाई क्रिकेट परिषद (एसीसी) के अधिकारियों से मुलाकात की।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, अब वह एशिया कप 2023 की मेजबानी को लेकर एसीसी के अध्यक्ष जय शाह से मिलना चाहते हैं। जय शाह भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव भी हैं। सूत्रों के मुताबिक, सेठी का पूरा ध्यान यह सुनिश्चित करने पर है कि एशिया कप 2023 को उनके देश से बाहर नहीं ले जाया जाए। पिछले साल जय शाह ने कहा था कि टूर्नामेंट तटस्थ स्थान पर होगा।

एशिया कप की मेजबानी को लेकर की चर्चा

सूत्र ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया- नजम सेठी इंटरनेशनल लीग टी20 (आईएलटी20, अमीरात क्रिकेट बोर्ड द्वारा टी20 लीग) के उद्घाटन समारोह के लिए यूएई आए थे। उन्होंने एसीसी अधिकारियों से मुलाकात की और एशिया कप 2023 पर चर्चा के लिए फरवरी में एसीसी अध्यक्ष जय शाह से मिलने की इच्छा व्यक्त की। इससे पहले पिछले साल दिसंबर में पीसीबी के पूर्व प्रमुख रमीज राजा ने कहा था कि भारतीय टीम के उनके देश का दौरा नहीं करने के कारण अगर एशिया कप की मेजबानी के अधिकार वापस ले लिए जाते हैं तो पाकिस्तान वर्ल्ड कप 2023 से हटने पर विचार कर सकता है।

पूर्व पीसीबी चीफ रमीज राजा की गीदड़भभकी

रमीज ने कहा था- ऐसा नहीं है कि हमारे पास मेजबानी के अधिकार नहीं हैं और हम इसकी मेजबानी करने की गुहार लगा रहे हैं। हमने अधिकार जीते थे। अगर भारत नहीं आता है, तो वह न आएं। अगर पाकिस्तान से एशिया कप छीन लिया जाता है, तो शायद हम भी वर्ल्ड कप से बाहर हो जाएंगे। रमीज राजा ने यह भी कहा- अगर भारत अगले साल पाकिस्तान में होने वाले एशिया कप से बाहर होने का विकल्प चुनता है, तो पाकिस्तान भी 2023 में भारत में होने वाले 50 ओवर के विश्व कप में भाग लेने के लिए भारत की यात्रा नहीं करेगा।

पीसीबी में मच गई थी खलबली

जय शाह के बयान के बाद पीसीबी ने कहा था कि इस तरह के बयानों में एशियाई और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट समुदायों को विभाजित करने की क्षमता है और यह आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2023 और 2024 से 2031 में भारत में भविष्य के आईसीसी कार्यक्रमों के लिए पाकिस्तान की भारत यात्रा को प्रभावित कर सकता है। इसके बाद केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने बयान दिया था कि भारत सभी टीमों के साथ 2023 विश्व कप की मेजबानी करेगा।

‘हम विश्व कप की सफल मेजबानी करेंगे‘

खेल मंत्री ने कहा था कि भारत किसी भी खतरे से डरने वाला नहीं है और वह उन्हें टूर्नामेंट की मेजबानी करने से नहीं रोकेगा। उन्होंने कहा- हमने पहले भी विश्व कप की सफलतापूर्वक मेजबानी की है और सभी टीमों ने खुशी से भाग लिया। हम 2022 में भी टूर्नामेंट की मेजबानी करेंगे और सभी टीमें इसमें खेलेंगी। बीसीसीआई अध्यक्ष रोजर बिन्नी ने भी कहा कि एशिया कप 2023 के लिए पाकिस्तान का दौरा करना बोर्ड का फैसला नहीं है और वह सरकार के फैसले पर भरोसा करेंगे।