suicide by hanging
suicide by hanging

भोपाल। पिपलानी थाना क्षेत्र स्थित सी सेक्टर सोनागिरी में बुधवार रात एक युवक ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मूलत: रीवा का रहने वाला युवक यहां अपने तीन रूम पार्टनर के साथ किराए के मकान में रह रहा था और प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था। सूचना पर पहुंची पुलिस को युवक के पास से और घटनास्थल से सुसाइड नोट नहीं मिला है। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।

परिवार रीवा में रहता है-

एएसआई भारत मीणा ने बताया कि जीतेंद्र देव पिता रामदेव वर्मा (24) मूलत: रीवा का रहने वाला था। उसके पिता रामदेव वर्मा शिक्षा विभाग में ब्लॉक आफिसर हैं। जीतेंद्र रामदेव वर्मा के चार बेटे और एक बेटी में दूसरे नंबर का बेटा था। बड़ा बेटा गेल इंडिया में नौकरी करता है। परिवार रीवा में रहता है। यहां जीतेंद्र अपने रूम पार्टनर हरिओम गुप्ता, अनुभव तिवारी और विवेक कुमार के साथ मकान नंबर -101, सी सेक्टर सोनागिरी पिपलानी में रहता था। एमकॉम की पढ़ाई पूरी करने के बाद वह प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहा था। हाल ही में उसने पटवारी पात्रता परीक्षा का फार्म भरा था और यहां रहकर तैयारी कर रहा था।

कमरे में लगाई फांसी-

जीतेंद्र के दोस्त हरिओम गुप्ता ने पुलिस को बताया कि गुरुवार शाम जीतेंद्र लायब्रेरी से पढ़कर घर आया था और अपने कमरे में चला गया। रात करीब साढ़े 8 बजे के आसपास दोस्तों को खाना खाने के लिए जाना था और दोस्त उसे बुलाने के लिए उसके कमरे में पहुंचे तो पता चला कि उसने फांसी लगा ली है। इसके बाद पुलिस को घटना की जानकारी दी गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण करते हुए शव पीएम के लिए मर्चूरी भेज दिया है। पुलिस को मृतक और कमरे की तलाशी ली, लेकिन सुसाइड नोट नहीं मिला।

Bhopal Crime: साढ़े तीन साल रिलेशन में रहने के बाद शादी से किया इनकार

डिप्रेशन में लगा ली फांसी, सुसाइड नोट में लिखा बीमारी से हूं पेरशान

भोपाल। जहांगीराबाद थाना क्षेत्र में रहने वाली एक महिला ने शाम अपने घर में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस को मृतका के पास से एक सुसाइड नोट मिला है, जिसमें उसने बीमारी और डिप्रेशन से तंग आकर अपनी मर्जी से खुदकुशी करने का जिक्र किया है। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है। आज पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा।

एएसआई राजकुमार गौतम ने बताया कि 8 वसुंधरा कॉलोनी जिंसी निवासी संगीता दमभाले पति प्रभाकर(41) गृहणी थी। वह मूलत: अमरावती महाराष्ट की रहने वाली हैं। उनके पति प्रापर्टी के साथ एलआईसी का काम करते हैं। गुरुवार शाम करीब साढ़े चार बजे पति किसी काम के सिलसिले में दीवानगंज गया था और बड़ा बेटा डॉक्टर के पास गया था। जबकि घर में संगीता और उनका छोटा बेटा थे। करीब डेढ़ घंटे बाद बड़ा बेटा लौटा तो उसने अपनी मां को कमरे में पंखे से बंधे दुपट्टे के फंदे पर लटका हुआ देखा। कमरे का दरवाजा अंदर से बंद था। इस कारण खिड़की की जाली तोड़ कर बेटा अंदर पहुंचा और अपनी मां को फंदे से नीचे उतारा।

सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतका के पास से एक सुसाइड नोट मिला है। जिसमें उसने लिखा है कि मैं बीमारी और डिप्रेशन से परेशान हूं। मेरे परिवार से सभ लोग अच्चे हैं। किसी की कोई गलती नहीं है, मैं अपनी मर्जी से यह कदम उठा रही हूं। वहीं परिजनों ने पूछताछ में बताया कि मृतका का अपनी पिता की संपत्ति को लेकर बहन से विवाद चल रहा था। वह इसी कारण डिप्रेशन में रहती थी। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।