भोपाल। जनजातीय कार्य विभाग के अधीन संचालित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय (गुरुकुलम्), बावड़ियाकलाँ के जनजातीय विद्यार्थियों ने इंडिया इंटरनेशनल साइंस फेस्टिवल-2022 में साइंस क्विज जीता। मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (मैनिट) में 24 जनवरी तक होने वाले इस फेस्टिवल में नेशनल मिनरल डेवलपमेंट कॉर्पोरेशन द्वारा साइंस क्विज का आयोजन किया गया।

शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों को दर्शाती हुई प्रदर्शनी लगाई

विद्यार्थियों ने जनजातीय कार्य विभाग के स्टॉल में अपने बनाए साइंस मॉडल भी देशभर से आए विज्ञान-विशेषज्ञों और आगंतुकों को प्रदर्शित किए। साथ ही विद्यार्थियों ने अन्य संस्थानों द्वारा लगाई प्रदर्शनी देखी एवं शैक्षणिक गतिविधियों में भी हिस्सा लिया। गौरतलब है कि जनजातीय कार्य विभाग की मध्यप्रदेश स्पेशल एंड रेसीडेंशियल एकेडमिक सोसायटी (एमपी-सरस) द्वारा शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों को दर्शाती हुई प्रदर्शनी लगाई है।

सीएम राइज स्कूल योजना को भी प्रदर्शनी में शामिल किया गया

शिक्षा के क्षेत्र में विभाग की अभूतपूर्व और महत्वाकांक्षी ‘सीएम राइज स्कूल’ योजना को भी प्रदर्शनी में शामिल किया गया है। इसमें प्रदेश के जनजातीय जिलों में निर्मित होने वाले विभागीय 95 सीएम राइज स्कूल के चुनिंदा कॉन्सेप्ट प्लान, बिल्डिंग का एरियर व्यू, प्री-नर्सरी एवं सीनियर क्लॉस रूम और स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स की पैनल प्रदर्शनी लगाई गई है। साथ ही विभाग के अधीन आदिम जाति अनुसंधान एवं विकास संस्था द्वारा प्रकाशित शोध पुस्तकें, फोटो संग्रह और कॉफी टेबल बुक्स की भी प्रदर्शनी लगाई गई है। विभाग की छात्रवृत्ति, नि:शुल्क कोचिंग, रोजगार कौशल, छात्रावास एवं आश्रम और विशिष्ट आवासीय विद्यालयों से संबंधित योजनाओं को भी प्रदर्शित किया गया है।

गरीबों के कल्याण के लिए MP सरकार कर रही है बेहतर कार्य : राजनाथ सिंह

साइंस फेस्टिवल में दिखी जनजातीय शिक्षा में बढ़ते कदमों की झलक

भोपाल। जनजातीय कार्य विभाग ने मौलाना आजाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (मैनिट) में 24 जनवरी तक आयोजित इंडिया इंटरनैशनल साइंस फेस्टिवल-2022 में अपनी प्रदर्शनी लगाई है। विभाग ने शिक्षा के क्षेत्र में अपने बढ़ते कदमों को दर्शाते हुए किए जा रहे उत्कृष्ट कार्यों व योजनाओं को प्रदर्शित किया है। विभाग की मध्यप्रदेश स्पेशल एंड रेसीडेंशियल एकेडमिक सोसायटी (एमपी-सरस) द्वारा प्रदेश के जनजातीय जिलों में संचालित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालयों में शिक्षा के क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों को दिखाया गया है।

साथ ही, शिक्षा के क्षेत्र में विभाग की अभूतपूर्व और महत्वकांक्षी सीएम राइज स्कूल योजना को भी इस प्रदर्शनी में शामिल किया गया है। इसमें प्रदेश के जनजातीय जिलों में निर्मित होने वाले विभागीय 95 सीएम राइज स्कूल के चुनिंदा कॉन्सेप्ट प्लान, बिल्डिंग का एरियर व्यू, प्री-नर्सरी व सीनियर क्लासरूम और स्पोर्ट्स कॉम्पलेक्स की पैनल प्रदर्शनी लगाई गई है। वहीं, विभाग के अधीन आदिम जाति अनुसंधान एवं विकास संस्था द्वारा प्रकाशित शोध पुस्तकें, फोटो संग्रह और कॉफी टेबल बुक्स की भी प्रदर्शनी लगाई गई है।

विभाग की छात्रवृत्ति, निशुल्क कोचिंग, रोजगार कौशल, छात्रावास व आश्रम और विशिष्ट आवासीय विद्यालयों से संबंधित योजनाओं पर आधारित प्रदर्शनी लगाई गई हैं। वहीं, विभाग के अधीन संचालित बावड़िया कला स्थित एकलव्य आदर्श आवासीय विद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा तैयार विज्ञान मॉडल भी प्रदर्शित किए गए हैं। इन विद्यार्थियों ने फेस्टिवल में लगी देशभर की प्रदर्शनियों का अवलोकन भी किया।