cows died
cows died

राजगढ़। मध्यप्रदेश में इन दिनों कड़ाके की ठंड पड़ रही है। नौगांव में तो पारा 0 डिग्री तक चला गया है। ठंड से बचने के लिए मनुष्य तो कई उपाय कर लेता है लेकिन हाल ही में खिलचीपुर में ठंड से 20 गायों की मौत हो गई है। बताया जा रहा है कि वहां के गौशाला प्रबंधन ने गायों को ठंड से बचाने के कोई इंतजाम नहीं किए थे।

गौशाला में क्षमता से अधिक गाय-

राजगढ़ जिले के खिलचीपुर में स्थित एक गौशाला में गायों के शवों का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद जिले में हड़कंप मच गया। बताया जा रहा है कि गौशाला में क्षमता से अधिक गायों को रखा गया है। जिसके कारण कड़ाके की ठंड के बीच गाय खुले में रहने को मजबूर हैं। गौशाला प्रबंधन ने गायों को ठंड से बचाने के लिए कोई विशेष इंतजाम तक नहीं किए हैं।

गौशाला के चौकीदार रतनलाल ने बताया कि मैं गौशाला में 35 वर्ष से चौकीदारी कर रहा हूं। तीन दिनों से तेज ठंड पड़ रही है, जिससे दो दिन में 20 गायों की मौत हो गई। गौशाला के रिकॉर्ड में 550 गाय हैं गौशाला में गाय रखने की क्षमता 500 गायों की है, लेकिन गौशाला में दो से तीन हजार गाय हैं। वहीं, इस मामले पर राजगढ़ जिला पशु चिकित्सालय में उपसंचालक महिपाल सिंह कुशवाह ने कहा कि आज ही जानकारी प्राप्त हुई है। पत्र जारी कर विस्तृत रिपोर्ट मांगी है।

22 को सिंगरौली में 25 हजार आवासहीनों को मिलेंगे नि:शुल्क भूखंड

गायों का शव ग्राउंड में फिकवाया जा रहा है-

जानकारी प्राप्त होने के बाद ही बता पाऊंगा। गौशाला में भूसे में गायों के शव दबे पड़े हैं अगर ऐसी रिपोर्ट आती है तो लापरवाह गौशाला संचालक के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। गौशाला में गाय की मौत के बाद गायों को खिलचीपुर नगर के बड़े मेले के ग्राउंड में फिकवाया जा रहा है। लेकिन अब सवाल यही की आखिर इन गायों की मौत का जिम्मेदार कौन है ।