भोपाल। भारतीय विदेश मंत्रालय द्वारा संचालित ‘नो इंडिया प्रोग्राम’ के तहत अप्रवासी युवा विद्यार्थियों के एक दल को मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा प्रदेश भ्रमण करवाया जा रहा है। इसी के तहत यह दल मध्यप्रदेश जनजातीय संग्रहालय का भ्रमण करने पहुंचा, जहां उन्होंने संग्रहालय की विभिन्न दीर्घाओं, चित्र प्रदर्शनी, चिन्हारी सोविनियर शॉप और पुस्तकालय ‘लिखन्दरा’ का अवलोकन किया।

बेहतर प्रदर्शन तथा कलात्मक संयोजन की प्रशंसा की

उन्होंने संग्रहालय की दीर्घाओं एवं उनमें जनजातीय समुदाय की वाचिक और कला परम्परा के बेहतर प्रदर्शन तथा कलात्मक संयोजन की प्रशंसा भी की। भ्रमण में भारतीय मूल के युवाओं को देश की सांस्कृतिक विरासत, कला एवं साहित्य के विभिन्न पहलुओं से परिचित कराने के उद्देश्य द्वारा भारतीय विदेश मंत्रालय ‘नो इंडिया प्रोग्राम’ संचालित किया जा रहा है। जिसमें मॉरीशस, फिजी, सूरीनाम, गुयाना, त्रिनिदाद और टोबैगो, दक्षिण अफ्रीका, जमैका के युवाओं ने सहभागिता की है।

आठवां भारतीय अंतरराष्ट्रीय विज्ञान महोत्सव 21 से

युवा दिवस पर व्याख्यान, स्वास्थ्य एवं रक्तदान शिविर का आयोजन

भोपाल। युवा दिवस के अवसर पर आज रेडक्रास सोसायटी के ब्लड बैंक में स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित किया गया। जिसमें युवाओं ने बढ़चढ़ कर भागीदारी निभाई। सेक्रेटरी जनरल प्रदीप त्रिपाठी ने कहा कि मानव सेवा की सच्ची ईश्वरी सेवा मानने वाले स्वामी विवेकानंद की जयंती पर भारतीय रेडक्रास सोसायटी पीड़ित मानव की सेवा के लिए संकल्पबद्व हैं। रेडक्रास के जनरल सेक्रेटरी ने लक्ष्मी नारायण कॉलेज ऑफ टेक्निलॉजी (एलएनसीटी) में युवा दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित किया।

स्वामी विवेकानंद के जीवन पर प्रकाश डाला

इस अवसर पर उन्होंने स्वामी विवेकानंद के जीवन पर प्रकाश डाला और उपस्थित युवाओं को रेडक्रास क्या है एवं क्या-क्या गतिविधियां संचालित करती है की जानकारी दी। साथ ही युवक रेडक्रास के उद्देश्य के महत्व को समझाया। उन्होंने कहा कि आज का युवा देश की प्रगति एवं विकास की नीव है। उन्होंने कहा कि युवाओं को रक्तदान के साथ-साथ सेवा कार्यों भी करना चाहिए। उन्होंने रेडक्रास के प्राथमिक उपचार (फर्स्ट एड) के प्रशिक्षण जो सेन्ट जॉन एम्बुलेंस के अंतर्गत दिया जाता है। यह प्रशिक्षण केवल देश में रेडक्रास ही देता है, इस प्रशिक्षण के प्रमाण पत्र युवाओं को रोजगार में आवश्यक होता है।