Bhopal : विशिष्ट पहचान संख्या यानी आधार को लेकर समय-समय पर बदलाव होते रहे हैं। किन सेवाओं के लिए आधार अनिवार्य है, इसे लेकर भी केंद्र और राज्य सरकारें नियमों में बदलाव करते रहीं हैं। मध्यप्रदेश में अब सात सेवाओं के लिए आधार को अनिवार्य कर दिया गया है। आधार नहीं होने पर इन सेवाओं का लाभ नहीं लिया जा सकेगा।

इन सेवाओं के लिए जरूरी आधार

प्रदेश के नगरीय निकायों में सम्पत्ति के पंजीकरण, सम्पत्तिकर भुगतान, नए नल कनेक्शन सहित सात सेवाओं के लिए अब पहचान प्रमाणीकरण के लिए आधार जरूरी होगा। हालांकि, जिनके पास आधार नहीं होगा वे पैन कार्ड, पासपोर्ट, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस से इन सुविधाओं का लाभ उठा सकेंगे।

ऑनलाइन सुविधाओं के लिए जरूरी

नगरीय प्रशासन विभाग ने ई नगर पालिका पोर्टल पर संचालित योजनाओं में ऑनलाइन सुविधाएं दी जाती है उनमें आधार नामांकन आईडी पर्ची प्रस्तुत करने पर इनका लाभ दिया जाएगा। इसमें सम्पत्ति कर पंजीकरण, सम्पत्तिकर भुगतान, नल कनेक्शन पंजीकरण, ट्रेडिंग लाइसेंस आवेदन, विवाह प्रमाणपत्र पंजीकरण, फायर एनओसी प्रमाणपत्र , नोडयूज प्रमाणपत्र अब आधार पंजीयन से प्रमाणीकरण कर दी जाएंगी। जिनके पास आधार कार्ड अभी तक नहीं बन पाया है उन्हें पासपोर्ट, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी देकर वे इन सुविधाओं का लाभ ले सकेंगे।

कमलनाथ का करारा वार : शिवराज जी मत भूलिए, आठ महीने बाद चुनाव हैं…

डिजिटल प्लेटफार्म के उपयोग के लिए आधार के उपयोग किए जाने की प्रक्रिया नगरीय प्रशासन विभाग ने तय कर दी है। विभाग नागरिकों को सरलता और सुगमता के साथ त्वरित सेवाएं प्रदान करने के लिए विभाग पोर्टल के माध्यम से ऑनलाईन सेवाओं का लाभ उठाने के लिए नागरिकों को आधार की जरूरतों के बारे में जागरुक करने के लिए मीडिया और व्यक्तिगत नोटिस के माध्यम से जागरुक करेगा।