Air India : फ्लाइट में महिला पर पेशाब करने वाला चढ़ा पुलिस के हत्थे, कंपनी ने नौकरी से निकाला

पेशाब करने के आरोपी शंकर मिश्रा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया

urine on passenger
urine on passenger

नई दिल्ली । एयर इंडिया (Air India) की फ्लाइट (Flight) में बुजुर्ग महिला पर पेशाब करने के आरोपी को पुलिस ने आखिरकार दबोच लिया है। पुलिस कई दिनों से आरोपी की तलाश कर रही थी। पेशाब करने के आरोपी शंकर मिश्रा को पुलिस (Police) ने गिरफ्तार कर लिया है।

दिल्ली पुलिस की एक टीम ने शंकर मिश्रा को कई दिनों की कोशिशों के बाद बीती रात बेंगलुरु से गिरफ्तार किया। जांच के दौरान पुलिस को पता चला था कि आरोपी बेंगलुरु में ठहरा हुआ है, जिसके बाद पुलिस ने एक टीम बेंगलुरु में तैनात की हुई थी। आखिरकार शुक्रवार रात को शंकर मिश्रा पुलिस के हत्थे चढ़ गया।

अपनी एक गलती से आया पुलिस के हाथ

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, दिल्ली पुलिस के डिप्टी कमिश्नर (एयरपोर्ट) रवि कुमार सिंह ने बताया कि शंकर मिश्रा ने अपने खिलाफ एफआईआर दर्ज होने के बाद अपना फोन स्विच ऑफ कर लिया था। हालांकि वह सोशल मीडिया पर एक्टिव था और सोशल मीडिया से ही अपने दोस्तों और परिचितों के संपर्क में था। इसी के चलते पुलिस उस तक पहुंचने में कामयाब हुई। पुलिस ने बेंगलुरु के संजय नगर इलाके से आरोपी शंकर मिश्रा को गिरफ्तार किया है। जिसके बाद उसे दिल्ली लाया जाएगा।

Google के CEO सुंदर पिचाई ने की PM मोदी से मुलाकात, भारत की G20 अध्यक्षता को सपोर्ट का दिया भरोसा

क्या है मामला

बता दें कि बीती 26 नवंबर को न्यूयॉर्क से दिल्ली की एयर इंडिया की फ्लाइट में सफर के दौरान शंकर मिश्रा ने शराब के नशे में बुजुर्ग महिला के ऊपर कथित तौर पर पेशाब कर दिया था। अपनी गलती का अहसास होने के बाद आरोपी ने पीड़ित महिला से माफी भी मांगी थी और पुलिस में इसकी शिकायत ना करने की अपील की थी। हालांकि महिला ने मामले की शिकायत एयर इंडिया मैनेजमेंट से की और इसी शिकायत के आधार पर पुलिस ने बीती 4 जनवरी को आरोपी के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी।

आरोपी की नौकरी गई

आरोपी शंकर मिश्रा अमेरिका बेस्ड वित्तीय कंपनी वेल्स फार्गो के भारतीय चैप्टर में बतौर उपाध्यक्ष काम कर रहा था। हालांकि इस घटना के सामने आने और सोशल मीडिया पर इसे लेकर बवाल होने के बाद कंपनी ने आरोपी को बर्खास्त कर दिया है।

घटना के चश्मदीद का बयान आया सामने

घटना के चश्मदीद डॉ. सौगत भट्टाचार्य ने एक टीवी चैनल से बात करते हुए कहा, ‘मैं बिजनेस क्लास में सफर कर रहा था। आरोपी और पीड़िता भी बिजनेस क्लास में ही सफर कर रही थी। सफर के दौरान लंच सेशन में आरोपी शंकर मिश्रा ने व्हिस्की की चार ड्रिंक्स पी लीं। मेरी शंकर मिश्रा से बतौर यात्री बात हो रही थी। वो पूरे नशे में थे। उन्होंने कई बार मुझसे एक ही बात पूछी कि आपके कितने बच्चे हैं। ये देख मैं समझ चुका था कि वो नशे में टल्ली हैं। लंच खत्म होने के बाद मैंने फ्लाइट क्रू को बताया कि शंकर मिश्रा ने हद से ज्यादा शराब पी है और आप इसका ध्यान रखिए।
डॉ भट्टाचार्य ने आगे बताया, ‘क्रू को इसकी जानकारी देकर मैं अपनी सीट पर आकर बैठ गया। थोड़ी देर बाद एक आवाज आई। मैंने देखा का मिश्रा अपनी सीट पर पड़े हुए हैं। जब मैं रेस्टरूम की तरफ गया तो वहां पीड़िता गैलरी की तरफ आ रही थी। उनके शरीर पर पानी जैसा लगा हुआ था। वो काफी डरी हुई थीं। उन्होंने बताया कि एक यात्री ने उनके ऊपर पेशाब कर दी है। इस बात से हम सब हैरान थे। इसके बाद फ्लाइट की क्रू रेबेका और रूबिका ने उन्हें साफ किया।