Jayenbhai Mehta

Jayenbhai Mehta: अमूल ने घोषणा की कि जयनभाई मेहता को आरएस सोढ़ी के उत्तराधिकारी के रूप में गुजरात को-ऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन लिमिटेड (GCMMF) के प्रबंध निदेशक के रूप में चुना गया है, जिसे आमतौर पर इसके ब्रांड नाम ‘अमूल’ के नाम से जाना जाता है।

कंपनी के निदेशक मंडल की सोमवार को हुई बैठक में सोढ़ी के प्रबंध निदेशक के कार्यकाल को तत्काल प्रभाव से समाप्त करने का फैसला किया गया। सोढ़ी 2010 से कंपनी का नेतृत्व कर रहे थे। उनके उत्तराधिकारी भी अमूल के दिग्गज हैं जो फेडरेशन के वर्तमान मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) हैं।

कौन हैं जयन मेहता?

जिस व्यक्ति को अंतरिम अवधि के लिए सोढ़ी के उत्तराधिकारी के लिए चुना गया है, वह अमूल में मुख्य परिचालन अधिकारी (सीओओ) है। वह 1991 में अमूल का हिस्सा बने और उन्होंने कंपनी के ब्रांड मैनेजर, ग्रुप प्रोडक्ट मैनेजर और मार्केटिंग फंक्शन में जनरल मैनेजर के रूप में काम किया।

अमूल में अपने तीन दशक के कार्यकाल में, मेहता ने अप्रैल-सितंबर 2018 से अमूल डेयरी, आनंद के प्रभारी एमडी के रूप में भी काम किया है। GCMMF का सीओओ बनाए जाने से पहले मेहता मुख्य महाप्रबंधक (सीजीएम) के पद पर कार्यरत थे। GCMMF के पदानुक्रम में, COO का पद प्रबंध निदेशक के बाद में है, जिसके लिए उन्हें अब प्रमोशन दिया गया है।

जीते हैं कई मार्केटिंग और लीडरशिप प्राइज-

वल्लभ विद्यानगर स्थित सरदार पटेल विश्वविद्यालय के स्वर्ण पदक विजेता मेहता, सोढ़ी की तरह, ग्रामीण प्रबंधन संस्थान, आणंद, गुजरात के पूर्व छात्र हैं। उनके लिंक्डइन प्रोफाइल के अनुसार, मेहता ने कई मार्केटिंग और लीडरशिप पुरस्कार जीते हैं। उनमें से कुछ में मार्केटर ऑफ द ईयर – एफएमसीजी फूड इंटरनेशनल एडवरटाइजिंग एसोसिएशन (आईएए) इंडिया चैप्टर द्वारा जारी और पिच और एक्सचेंज4मीडिया द्वारा जारी बेस्ट सीएमओ अवार्ड 2021 शामिल हैं।

BW Businessworld द्वारा मेहता को भारत के सबसे प्रभावशाली मार्केटिंग लीडर्स 2021 सूची में भी नामित किया गया था। अपने निजी जीवन में, मेहता एक फुटबॉल प्रशंसक भी हैं और फीफा विश्व कप 2022 में स्विट्जरलैंड के खिलाफ पुर्तगाल को देखने के लिए कतर भी गए थे।