Makar Sankranti 2023 Ke Niyam
Makar Sankranti 2023 Ke Niyam

Makar Sankranti 2023: सूर्य के राशि परिवर्तन का पर्व मकर संक्रांति रविवार 15 जनवरी को मनाया जायेगा। ज्योतिषाचायो के अनुसार इस बार सूर्य शनिवार रात्रि 8 बजकर 14 मिनट पर मकर राशि में प्रवेश करेंगे, इसलिए मकर संक्रांति का पर्व रविवार 15 जनवरी को मनाया जाएगा। मान्यता के अनुसार तीज-त्योहार उदया तिथि को मनाये जाने चाहिए।

संक्रांति पर सूर्य की आराधना का विशेष महत्व होता है। इस दिन लोग पवित्र नदियों में डुबकी लगाना तथा सूर्य को अर्घ्य देना शुभ मानते हैं। जो नहीं जा सकते तो घर में ही स्नान के बाद सूर्य देवता की आराधना करते हैं। इस साल मकर संक्रांति का पर्व काफी खास है, क्योंकि कई शुभ योग बनने के साथ रविवार का दिन पड़ रहा है। इसके साथ ही खरमास समाप्त हो जाएगा और शुभ, मांगलिक कार्य होना शुरू हो जाएगा। मकर संक्रांति के दिन कुछ ऐसे काम हैं, जिन्हें इस खास मौके पर बिल्कुल नहीं करना चाहिए।

Makar Sankranti 2023: मकर संक्रांति पर पतंगों से सजेगा मंदिर, तिल गुड़ का लगेगा भोग, आसमान में लड़ाएगें पेंच

(Makar Sankranti 2023 Ke Niyam) आइए जानते हैं-

वाणी पर रखें संयम-

मकर संक्रांति को शुभ दिन माना गया है। इस दिन आपको अपनी वाणी पर संयम रखना चाहिए। साथ ही किसी के प्रति अभद्र शब्दों का इस्तेमाल करने या उन पर क्रोध करने से भी बचना चाहिए। ऐसा न करने से अशुभ परिणाम झेलने पड़ते हैं।

इस दिन गलती से भी रात का बचा हुआ बासी भोजन नहीं खाना चाहिए। ऐसा करने से मन में नकारात्मकता हावी हो जाती है। इसके बजाय मकर संक्रांति पर खिचड़ी और गुड़ का सेवन करना चाहिए। उनके सेवन से शरीर को गरमी और ऊर्जा हासिल होती है।

स्नान किए भोजन न करें-

मकर संक्रांति वाले दिन बिना स्नान किए भोजन नहीं करना चाहिए। साथ ही स्नान और पूजा-पाठ के पश्चात जरूरतमंदों को दान अवश्य करना चाहिए। ऐसा करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है।
यह दिन प्रकृति से जुड़े पर्व मनाने का दिवस होता होता है। इस दिन गलती से घर के बाहर या अंदर पेड़-पौधों की कटाई-छंटाई नहीं करनी चाहिए। इन कृत्यों से पाप लगता है और बुरे परिणाम भुगतने पड़ते हैं।

तामसिक भोजन से रहें दूर-

मकर संक्रांति के दिन जरूरतमंद आपके घर कुछ मांगने आए तो उसे खाली हाथ कभी वापस नहीं लौटाना चाहिए और न ही किसी गरीब का मजाक उड़ाना चाहिए। ऐसा करने से भगवान विष्णु क्रोधित हो जाते हैं, जिसका खामियाजा मनुष्य को भुगतना पड़ता है।

इस शुभ दिन पर आपको भूल से भी तामसिक भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए। यानी कि आपको लहसुन, प्याज और मांस-मदिरा से हर हाल में दूर रहना चाहिए। साथ ही तले-भुने और मसालेदार भोजन करने से भी परहेज करना चाहिए।