Kolar Six Lane Project
Kolar Six Lane Project

भोपाल। कोलार सिक्स लेन प्रोजेक्ट के लिए कोलार तिराहे से अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई जारी है। इसी के चलते शुकवार को जिला प्रशासन, नगर निगम और पुलिस प्रशासन की टीम कार्रवाई के लिए पहुंची लेकिन उन्हें स्थानीय रहवासियों की नाराजगी का शिकार होना पड़ा।

दरअसल जहां पर अतिक्रमण अमले ने कार्रवाई शुरू की इसी दौरान वहां रहने वाले लोग भड़क गए और हंगामा करते हुए पथराव कर दिया। इतना ही नहीं गुस्साएं लोगों ने पटवारियों तक की धुनाई लगा दी। पथराव के दौरान पत्थर लगने से पटवारियों के सिर में चोट आने से वह घायल हो गए।

यह देख मौके पर मौजूद तहसीलदार अविनाश मिश्रा ने पटवारियों को बचाया और उन्हें रेस्ट हाउस ले गए। इस पूरे घटनाक्रम के दौरान दक्षिण -पश्चिम विधायक पीसी शर्मा भी मौके पर पहुंच गए थे। इधर पुलिस ने तीन युवकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। बता दें 222 करोड़ की लागत से बनने वाली इस सड़क में बाधक कोलार रेस्ट हाउस तिराहे पर पसरे अतिक्रमण को हटाने के लिए शुक्रवार को नगर निगम का अतिक्रमण अमला और जिला प्रशासन के अधिकारी पुलिस बल सहित मौके पर पहुंचे थे। 30 मकानों को हटाया जा चुका है।

फूलों की खुशबू से महका गुलाब उद्यान, मन मोह लेगी Rose रॉयल फैमिली…

36 मकान और 20 दुकानें हटाई जाएंगी-

एसडीएम संजय श्रीवास्तव ने बताया कि कोलार तिराहे से झुग्गियों के विस्थापन की कार्रवाई की जा रही थी। जो लोग अपनी इच्छा से जा रहे थे उनके मकान हटाए जा रहे थे, कुछ कबाड़ बिनने वाले चाहते थे कि सामान वे उठाकर ले जाए। तभी लोगों ने जमकर पथराव करते हुए हंगामा कर दिया। इसी बीच पटवारी राजेश जैन और राघवेंद्र सिंह को लोगों ने घेर लिया और उनके साथ झूमाझटकी करने लगे।

पत्थर लगने से उनके सिर में चोट आई है। एसडीएम ने बताया कि कोलार रेस्ट हाउस तिराहे पर 36 मकान और 20 दुकानें हटाई जा रही हैं, उन्हें अन्य जगह पर विस्थापित किया जा रहा है। इनमें से 30 मकानों को हटाया जा चुका है। यहां रहने वाले लोगों के द्वारा कोई हंगामा नहीं किया जा रहा है।

इनका कहना है: कोलार सिक्स लेन रोड के लिए कोलार तिराहे पर बने मकान व दुकानों को विस्थापित किया जा रहा है। अब तक 30 मकान को हटाया जा चुका है बाकि को हटाने की कार्रवाई जारी है। शुक्रवार को कुछ कबाड़ी व उनके स्वजनों ने अमले के साथ झूमाझटकी कर दी थी। इस दौरान पटवारियों को चोट आई है जिनका उपचार करा दिया गया है। वहीं आरोपितों के खिलाफ चूनाभट्टी थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है।
संजय श्रीवास्तव, एसडीएम