भोपाल। देशभर की इकलौती और अभिनव योजना युवा जनसेवा मित्र देने वाले मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का युवाओं के लिए विश्वास एक बार फिर परिलक्षित होता दिखाई दिया। दुनिया के कई देशों से मप्र पहुंचे हजारों प्रवासी भारतीयों में शिवराज ने चर्चा का पहला चरण युवाओं के साथ ही रखा। युवाओं की ऊर्जा, आत्मविश्वास और कार्यक्षमता को सफलता की कुंजी बताते हुए उन्होंने इनके हौसले को बढ़ाते रहने की बात कही है।

प्रदेश की कमर्शियल कैपिटल

इंदौर में रविवार को शुरू हुए 17वे प्रवासी भारतीय सम्मेलन में सीएम शिवराज सिंह चौहान ने युवा मेहमानों से बात की। उन्होंने युवाओं को भारत की स्टार्ट अप योजनाओं का कर्णधार करार देते हुए उनसे भविष्य की विकास योजनाओं का भरोसा जताया। सीएम शिवराज ने युवाओं से आह्वान किया कि वे आगे बढ़ें और इतना आगे जाएं कि दुनिया अपने देश के विकास को निहारे और इसकी कायल हो जाए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अपने पहले कार्यकाल से ही प्रदेश के युवाओं से एक खास रिश्ता कायम कर चल रहे हैं। प्रदेश के सभी युवाओं को अपना भांजा भांजी निरूपित करते आए शिवराज अब उन्हें मेरे बेटा बेटियों के संबोधन से पुकारने लगे हैं। ये संबोधन अब मंचीय नारों से आगे बढ़कर युवाओं को रोजगार और उनकी शैक्षणिक क्षमता को आगे बढ़ाने की तरफ बढ़ चुका है। मुख्यमंत्री शिवराज ने प्रदेश के यंग प्रोफेशनल्स को प्रदेश की विकास व्यवस्था का भागीदार बनाने के लिए गत वर्ष CMYPDP (मुख्यमंत्री यंग प्रोफेशनल्स डेवलपमेंट प्रोग्राम) शुरू किया था।

युवा सुशासन में अपना योगदान दे रहे हैं

प्रदेश के हर छोटे बड़े गांव और शहर में मौजूद इस योजना से जुड़े युवा सुशासन में अपना योगदान दे रहे हैं। इस शुरुआत से जहां समाज की अंतिम पंक्ति पर बैठे व्यक्ति तक सरकारी योजनाओं और सुविधाओं का पहुंचना आसान हुआ है, वहीं इससे युवाओं में नेतृत्व क्षमता और प्रशासनिक कौशल भी पनपा है। एक साल पूरा कर चुकी इस योजना के बाद जहां सीएम शिवराज इन युवाओं को अपना हाथ पैर और मुंह आंख और कान करार देते हैं, वहीं प्रदेश के युवाओं ने इस उपलब्धि से खुद को परिपक्व और कुछ करने के लिए सक्षम माना है।

Pravasi Bharatiya Sammelan : AAPI और MP सरकार के बीच होगा एमओयू

प्रदेश के युवाओं के शैक्षिक विकास और रोजगार की गारंटी देने अब एक नई योजना CMYIP को आकर दिया जा रहा है। प्रदेश के हर ब्लॉक स्तर तक के करीब 5 हजार स्नातक युवाओं को 6 माह के इंटर्नशिप योजना के माध्यम से जोड़ा गया है। प्रशिक्षण अवधि में 8 हजार रुपए महीना की सहयोग राशि के साथ इन युवाओं को भविष्य के सफल सुशासक के रूप में आंकलन किया जा रहा है। इधर, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान 20 जनवरी को प्रदेश की नई युवा नीति का ऐलान भी करने वाले हैं। इस नई नीति को तैयार करने के लिए भी युवाओं को आगे बढ़ाया गया और उन्हीं के सुझाव और सलाह पर इस नीति को मूर्त रूप दिया गया है।