भोपाल। अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ़ फिजिशियन ऑफ इंडियन ओरिजिन (AAPI) और मध्यप्रदेश सरकार के बीच एमओयू किया जाएगा। यह एमओयू चिकित्सा शिक्षा विभाग के नवाचार मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन के अंतर्गत किया जायेगा। प्रवासी भारतीय सम्मेलन के दूसरे दिन चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ़ फिजिशियन ऑफ इंडियन ओरिजिन (AAPI) संगठन के चिकित्सकों के साथ विशेष चर्चा के दौरान यह निर्णय लिया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि अमेरिका में डॉक्टर्स के प्रतिष्ठित संगठन के साथ एमओयू से चिकित्सा शिक्षा और शोध के क्षेत्र में नए आयाम विकसित हो सकेंगे।

मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन अंतर्गत होगा एमओयू

मंत्री सारंग ने अमेरिका से पधारे चिकित्सकों के संगठन अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ़ फिजिशियन ऑफ इंडियन ओरिजिन (AAPI) के साथ चिकित्सा शिक्षा एवं शोध के क्षेत्र में परस्पर आदान-प्रदान के लिए विस्तृत चर्चा की। इस दौरान बताया गया कि मेडिकल नॉलेज शेयरिंग मिशन अंतर्गत होने जा रहे इस एमओयू में AAPI द्वारा मध्यप्रदेश के चिकित्सा विद्यार्थियों एवं चिकित्सकों की कैपेसिटी बिल्डिंग व ट्रेनिंग, चिकित्सा के विषय विशेषज्ञता के सेंटर ऑफ एक्सीलेंस की स्थापना में तकनीकी सहयोग, चिकित्सा शोध के क्षेत्र में कोलेबोरेशन के साथ ही चिकित्सा विद्यार्थियों एवं चिकित्सकों के लिये ऑनलाइन लेक्चर्स एवं वर्कशॉप में अपना सहयोग प्रदान करेगा।

दुनिया के विकास का इंजन बन सकता है भारत : PM मोदी

बैठक में अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा मोहम्मद सुलेमान, AAPI के प्रतिनिधिमंडल में अध्यक्ष डॉ. रवि कोली, डॉ. मनोज जैन, डॉ प्रकाश सतवानी, डॉ लीना गुप्ता, डॉ. विजय मौर्य, डॉ. प्रमित, डॉ. सुधाकर, डॉ. सतीश सहित संगठन के अन्य गणमान्य सदस्य उपस्थित थे।