Great Movement of Karni Sena
Great Movement of Karni Sena

भोपाल। जातिगत आरक्षण समाप्त करने, आर्थिक आधार पर आरक्षण देने, एससी, एसटी एक्ट में बिना जांच पड़ताल के गिरफ्तारी न होने सहित 21 सूत्रीय मांगों को लेकर करणी सेना ने राजधानी के जंबूरी मैदान में महाआंदोलन शुरू कर दिया है।

हजारों की संख्या में मध्यप्रदेश के साथ राजस्थान, छत्तीसगढ़ और हरियाणा व कुछ उत्तर प्रदेश के क्षत्रिय समाज के नेताओं और करणी सेना के पदाधिरियों के साथ कई अन्य समाज और संगठनों के लोग महाआंदोलन में शामिल हो रहे हैं। शनिवार देर शाम से सैकड़ों की संख्यों में वाहनों का काफिला आने लगा था। रविवार सुबह तक भेल क्षेत्र में सड़कों के किनारे हजारों की संख्यां में वाहनों की भीड़ लग गई थी। दिनभर के प्रदर्शन के बाद रात होने पर भी आंदोलनकारी मैदान पर डटे हैं। करणी सेना परिवार के प्रमुख जीवन सिंह शेरपुर समेत 5 कार्यकर्ता भूख हड़ताल पर बैठ गए हैं। उन्होंने कहा कि मांगें पूरी होने तक हमारा आंदोलन जारी रहेगा। कुछ कार्यकर्ताओं ने कहा कि यह आंदोलन दिल्ली के किसान आंदोलन की तरह होगा।

इससे पहले करणी सेना परिवार ने मांगें नहीं मानने पर विधानसभा घेराव की चेतावनी दी थी, हालांकि बाद में प्रशासन के अधिकारियों ने उनसे बातचीत का समय मांगा, जिसके बाद फिलहाल प्रस्तावित विधानसभा घेराव टाल दिया गया है। विधानसभा घेराव की चेतावनी के बाद वहां सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

खजुराहो सहित 17 रेलवे स्टेशनों का कायाकल्प करेगा Railway

मोबाइल की टार्च जलाकर दिखाई एकता-

मोबाइल की टार्च जलाकर दिखाई एकता करणी सेना के प्रदेश अध्यक्ष जीवन सिंह शेरपुर ने कहा कि सिर्फ 5 लोग भूख हड़ताल पर बैठेंगे, जिसे जाना हो वह आंदोलन से अपने घर जा सकता है। प्रदर्शनकारियों को हिदायत दी गई कि कहीं भी तोड़फोड़ और उद्दंडता नहीं होनी चाहिए। उन्होंने किसी भी तरह की हिंसा नहीं करने की अपील की है। उन्होंने कहा कि आंदोलन लगातार जारी रहेगा। मोबाइल के टार्च की रोशनी में हजारों करणी सैनिकों ने रात में लगाए नारे, मध्यप्रदेश में एक ही किंग, जीवन सिंह, जीवन सिंह।

समझाईश पर घेराव टाला-

करणी सेना ने डेढ़ लाख के करीब लोगों की भीड़ जंबूरी मैदान में जुटने का दावा किया गया है। शाम 4 बजे तक मांगें नहीं माने जाने पर विधानसभा का घेराव करने की चेतावनी दी थी। लेकिन पुलिस अधिकारियों की समझाईश के बाद विधानसभा का घेराव टाल दिया।

पांच राज्यों से कार्यकर्ता पहुंचे-

प्रदर्शन में मध्यप्रदेश के अलावा हरियाणा, राजस्थान, महाराष्ट्र और छत्तीसगढ़ से भी करणी सेना के कार्यकर्ता पहुंचे हैं। प्रदर्शन के दौरान कार्यकर्ता ”माई के लाल” और ”जय भवानी” के नारे लगाते नजर आए। वहीं मुख्यमंत्री निवास, मंत्रालय, विधानसभा भवन और राजभवन की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। देर रात तक सभी प्रमुख चौराहों पर पुलिस बल तैनात है। देर रात तक पुलिस अधिकारी भी जंबूरी मैदान में डटे रहे।