भोपाल। बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यसमिति बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मुस्लिम समुदाय और फिल्मों पर अनावश्यक बयानबाजी से बचने की नसीहत दी। पीएम की इस नसीहत का सीधा असर एमपी की राजनीति में दिखने लगा है। बीजेपी के नेता फिल्मों पर टिप्पणी करने से किनारा करने लगे हैं। गृहमंत्री डॉ.नरोत्तम मिश्रा के बाद अब बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा भी ‘पठान’ फिल्म पर प्रतिक्रिया देने से बचते दिखे।

बीजेपी ऑफिस में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष से पठान फिल्म को लेकर सवाल पूछा गया, तो उन्होंने कहा कि हम सकारात्मक राजनीति करने के साथ अपना काम करें। जिनके पास जो काम है, वो अपना काम करेंगे। सेंसर बोर्ड से लेकर समाज और सरकारों में सिस्टम बने हुए हैं। वो अपना काम करेंगे। इन सब बातों की जिम्मेदारी हमारी नहीं हैं। मैं भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष हूं तो मेरी जिम्मेदारी है कि मैं अपनी पार्टी के संगठन के बारे में बात करें।

पीएम छोटी-छोटी बातों पर गौर करते हैं

राष्ट्रीय कार्यसमिति की बैठक में प्रधानमंत्री द्वारा दी गई नसीहत पर बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि संगठन के काम को कैसे ठीक करना है, कैसे समाज में भाजपा के प्रति जनता का जो सम्मान और विश्वास है, वो कैसे बना रहे। इसके लिए समय-समय पर प्रधानमंत्री का मार्गदर्शन मिलता है वो हम सब कार्यकर्ताओं के लिए दिशा देता है। इस प्रकार की कोई बात देश में घटती है तो उस पर भी वे चिंतन करते हैं। छोटी सी घटना उज्जैन में हुई जिसमें महाकाल मंदिर में एक युवा मोर्चा का कार्यकर्ता बैरिकेड लांघकर चला गया तो उस पर भी बात हुई। ये भाजपा का नेतृत्व है छोटी- छोटी बातों पर चिंतन किया जाता है। इसलिए यदि प्रधानमंत्री ने कोई बात कही तो वो केवल मप्र के लिए नहीं बल्कि देश भर के सभी कार्यकर्ताओं के लिए अनुकरणीय है।

लम्बे समय बाद आई वेकेंसी, आवेदन इतने कि बढ़ाना पड़ गई तारीख

हुजूर से विधानसभा चुनाव लड़ने की अटकलों पर लगाया विराम

भोपाल की हुजूर विधानसभा क्षेत्र से वोटर बनने और चुनाव लड़ने की अटकलों पर वीडी शर्मा ने कहा कि वे विद्यार्थी परिषद के कार्यालय में सालों से रहे हैं। उनका वोट विद्यार्थी परिषद के कार्यालय में था। ये अनाधिकृत था। क्योंकि वहां जब बीएलओ गया तो बताया कि वीडी शर्मा यहां नहीं रहते। मैं वहां नहीं रहता हूं।

कोलार की दानिश हिल्स पर जो मेरा लोकसभा का जो स्थाई पता है वहां मैंने अपना नाम जुडवाया है। खजुराहो लोकसभा की जनता ने मुझे पांच लाख वोटों से चुना है। मुझे ये गौरव है बुन्देखंड में काम करने का अवसर खजुराहो की जनता ने दिया है अभी बहुत काम करना है मैं उसमें लगा हुआ हूं।