Pravasi Bharatiya Sammelan : राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मु 17वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन के समापन सत्र में शामिल होने के लिए इंदौर पहुंच चुकी हैं। राष्ट्रपति इंदौर में सात घंटे रहेंगी और कई कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगी।राज्यपाल मंगूभाई पटेल एवं सीएम शिवराज सिंह चौहान ने उनका स्वागत किया। राष्ट्रपति मुर्मु दोपहर 2.30 बजे सूरीनाम गणराज्य के राष्ट्रपति चन्द्रिका प्रसाद संतोखी एवं दोपहर 2.55 बजे गुयाना गणराज्य के राष्ट्रपति डॉ. मोहम्मद इरफान अली से मुलाकात करेंगी।

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट करते हुए कहा कि, महामहिम राष्ट्रपति श्रीमती द्रोपदी मुर्मु जी का मां अहिल्या की नगरी इंदौर में हार्दिक स्वागत एवं अभिनंदन है। इंदौर और मध्यप्रदेश के लिए आज दुर्लभ अवसर और गर्व का विषय है। #PBDIndore का मंच आज तीन देशों के राष्ट्रपति की गरिमामयी उपस्थिति का साक्षी बनेगा।

दुनिया के विकास का इंजन बन सकता है भारत : PM मोदी

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने किए महाकाल दर्शन

वहीं, इंदौर में प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन में शामिल होने आए विदेश मंत्री एस जयशंकर प्रसाद ने मंगलवार को उज्जैन पहुंचकर बाबा महाकाल के दर्शन एवं पूजा-अर्चना कर उनका आशीर्वाद लिया। इसके साथ ही उन्होंने महाकाल लोक के दर्शन भी किए। उज्जैन में बाबा महाकाल के दर्शन कर विदेश मंत्री एस जयशंकर प्रसाद ने बोला कि महाकाल के दर्शन का सौभाग्य प्राप्त हुआ। राष्ट्र की प्रगति एवं विश्व के कल्याण की कामना की है।

महिला उद्यमियों की क्षमता का उपयोग करना” विषय पर चर्चा होगी

आज सम्मेलन के प्रथम सत्र में केन्द्रीय शिक्षा, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान की अध्यक्षता में “भारतीय कार्य-बल की वैश्विक गतिशीलता को सक्षम बनाना- भारतीय डायस्पोरा की भूमिका” विषय पर सत्र होगा। एक अन्य सत्र में केन्द्रीय वित्त मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में “राष्ट्र निर्माण के लिये एक समावेशी दृष्टिकोण की दिशा में प्रवासी महिला उद्यमियों की क्षमता का उपयोग करना” विषय पर विस्तृत चर्चा होगी।

इस मौके पर राज्यपाल मंगुभाई पटेल द्वारा भोज का आयोजन किया गया है। दोपहर भोज बाद राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन में पहुँचेंगी। केन्द्रीय विदेश राज्य मंत्री डॉ. वी. मुरलीधरन के धन्यवाद प्रस्ताव के साथ 17वें पीबीडी सम्मेलन का समापन होगा।