Political News : जम्मू कश्मीर में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा के बीच मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एक बार फिर केंद्र की भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोला है। दिग्विजय ने पाकिस्तान पर की गई सर्जिकल स्ट्राइक पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि केंद्र की भाजपा सरकार सिर्फ हिंदू-मुसलमानों के बीच नफरत फैलाने का काम कर ही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार समस्या को कायम रखना चाहती है, ताकि कश्मीर फाइल्स जैसी फिल्में बनती रहे और और हिंदू-मुसलमानों के बीच नफरत फैलती रहे। बता दें कि, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा फिलहाल जम्मू कश्मीर में है। इसी दौरान दिग्विजय सिंह ने यह बड़ी बात कही है।

सरकार के पास सर्जिकल के सबूत नहीं

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान दिग्विजय सिंह ने सर्जिकल स्ट्राइक और पुलवामा हमले को लेकर केंद्र पर कई सवाल खड़े किए हैं। केंद्र सरकार पर हमला बोलते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि वे सर्जिकल स्ट्राइक के बाद करती है कि हमने इतने मार दिए, लेकिन प्रमाण कुछ नहीं है। आपको बता दें कि उरी हमले के बाद भारत की ओर से पाकिस्तान में घुसकर सर्जिकल स्ट्राइक किया गया था। इसके अलावा पुलवामा अटैक के बाद भारत की ओर से पाकिस्तान को एयर स्ट्राइक के जरिए जवाब दिया गया था। केंद्र की मोदी सरकार इसे अपनी बड़ी कामयाबी मानती है, लेकिन विपक्ष लगातार इसकी आलोचना करता रहता है।

धारा 370 पर भी बोले-

दिग्विजय सिंह ने कहा कि 370 हटाने से फायदा किसका हुआ। वे कहते थे कि आतंकवाद समाप्त हो जाएगा। हिंदुओं का बोलबाला हो जाएगा। उन्होंने कहा कि जब से धारा 370 हटी है, आतंकवाद बढ़ गया है। रोज कुछ ना कुछ घटना हो रही है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि एक जमाने में आतंकवाद घाटी तक सीमित था। लेकिन अब धीरे-धीरे यह राजौरी पुंछ और डोडा तक आ रहा है। उन्होंने सवाल करते हुए कहा कि हुकूमत क्या चाहती है, हुकूमत यहां का फैसला नहीं कराना चाहती है। उन्होंने साफ तौर पर कहा कि सरकार यहां समस्या का निदान नहीं करना चाहती है।

गरीबों के कल्याण के लिए MP सरकार कर रही है बेहतर कार्य : राजनाथ सिंह

कश्मीर फाइल्स को लेकर यह बोले-

भाजपा की केंद्र सरकार पर अपना हमला जारी रखते हुए दिग्विजय सिंह ने कहा कि सरकार समस्या को कायम रखना चाहती हैं ताकि कश्मीर फाइल्स जैसी सिनेमा बनती रहे और और हिंदू-मुसलमानों के बीच नफरत फैलता रहे। उन्होंने लोगों से सवाल किया कि कभी आपने देखा के प्रधानमंत्री किसी फिल्म का प्रचार करने गया है। लेकिन नरेंद्र मोदी कश्मीर फाइल का प्रचार करने के लिए जरूर गए। उन्होंने कहा कि आज भारत जोड़ो यात्रा की आवश्यकता इसलिए पड़ी, क्योंकि नफरत फैलाया जा रहा है और हम नफरत को खत्म करना चाहते हैं।