center for examinations
center for examinations

भोपाल। वर्ष 2022 की बोर्ड परीक्षाओं के दौरान सामूहिक नकल वाले परीक्षा केन्द्रों के तत्कालीन केन्द्राध्यक्ष इस बार वर्ष 2023 की परीक्षाओं के लिए केन्द्राध्यक्ष नहीं बन सकेंगे। वहीं मूल्यांकन अधिकारी और सहायक मूल्यांकन अधिकारी की नियुक्ति केन्द्राध्यक्ष और सहायक केन्द्राध्यक्ष के रूप में नहीं होगी। यह मापदंड माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) ने तय किए हैं।

माध्यमिक शिक्षा मंडल ने 1 मार्च से होने वाली कक्षा दसवीं-बारहवीं की वार्षिक परीक्षाओं को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। बोर्ड ने हाल ही में इन परीक्षाओं के लिए बनाए जाने वाले परीक्षा केंद्रो पर केंद्राध्यक्ष, सहायक केंद्राध्यक्ष और पर्यवेक्षकों की नियुक्ति को लेकर गाइड लाइन जारी की है।

जिस केन्द्र में छात्राएं शामिल हो, वहां महिला शिक्षकों का चयन अवश्य किया जाए-

इसके लिए मंडल द्वारा मापदंड बनाए गए हैं, जिसके अनुसार ही प्रदेश भर में बनाए जाने वाले करीब 4 हजार परीक्षा केंद्रो में केन्द्राध्यक्ष व पर्यवेक्षकों की नियुक्ति की जाएगी। तय मापदंडो के अनुसार प्राचार्य स्तर के अधिकारी नहीं होने की स्थिति में वरिष्ठ व्याख्याता या उच्च माध्यमिक शिक्षक को केन्द्राध्यक्ष बनाया जा सकेगा। जिस केन्द्र में छात्राएं शामिल हो रही हैं, वहां महिला शिक्षकों का चयन अवश्य किया जाएगा।

गलत इतिहास पढ़ाना और राष्ट्रभक्तों को नीचा दिखाना कांग्रेस की आदत : मंत्री सारंग

जिला कलेक्टरों की अध्यक्षता में बनने वाली कमेटी करेगी नियुक्ति –

मंडल द्वारा प्रति वर्ष हाईस्कूल, हायर सेकण्डरी, हायर सेकण्डरी व्यावसायिक विद्यालय पूर्व शिक्षा में डिप्लोमा एवं शारीरिक शिक्षा प्रशिक्षण पत्रोपाधि की परीक्षाएं आयोजित की जाती हैं। परीक्षा केंद्रो के लिए केन्द्राध्यक्ष व पर्यवेक्षकों की नियुक्ति जिला कलेक्टरों की अध्यक्षता में बनने वाली कमेटी करेगी।

मंडल ने सभी कलेक्टरों को 10 फरवरी तक यह नियुक्तियां करने के निर्देश जारी कर दिए हैं। रेंडम पद्धति से चयनित केन्द्राध्यक्ष तथा सहायक केन्द्राध्यक्षों को नियुक्ति पत्र भी संबंधित जिले के जिला शिक्षा अधिकारी के हस्ताक्षर से एवं आदिवासी उपयोजना क्षेत्र के लिए सहायक आयुक्त, जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण के हस्ताक्षर से जारी किए जाएंगे।