street dog
street dog

भोपाल। अशोका गार्डन थाना क्षेत्र स्थित वर्धमान ग्रीन पार्ककॉलोनी में शाम दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां रहने वाले एक सख्श ने कार से जबरन स्ट्रीट डॉग के तीन पिल्लों को कुचल दिया। घटना का एक सीसीटीवी फुटेज भी वायरल हुआ है।

पेट लवर को घटना की जानकारी मिलते ही वह अशोका गार्डन थाने पहुंची थी और उन्होंने पुलिस को शिकायत की। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पुलिस फुटेज के आधार पर आरोपी कार चालक की तलाश कर रही है। पुलिस के अनुसार बीना श्रीवास्तव (45) हर्षवर्धन, नगर टीटी नगर में रहती हैं। वह पेट लवर है।

उन्होंने पुलिस को बताया कि रविवार शाम उन्हें सूचना मिली थी कि ग्रीनपार्क सिटी में रहने वाले एक सख्श ने स्ट्रीट डॉग के तीन बच्चों को कुचल दिया है। वह मौके पर पहुंची तो उन्होंने देखा कि दो बच्चे बुरी तरह से कुचले हुए मरे पड़े थे, जबकि एक बच्चे का पैर टूटा हुआ था। उन्होंने घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे के फुटेज लोगों से मांगे और थाने पहुंची थी। वहां पुलिस को शिकायत की। पुलिस ने उनकी शिकायत पर प्रकरण दर्ज कर लिया है।

इसलिए वाहनों के पीछे दौड़ते ही डॉग-

बीना श्रीवास्तव ने बताया कि लोग अक्सर शिकायत करते हैं कि स्ट्रीट डॉग उनकी गाड़ियों के पीछे भागते हैं। वीडियो में नजर आ रहा है कि पिल्लों को जब कुचला गया तो उनकी मां कार के पीछे दौड़ी थी। उन्होंने बताया कि कार चालक पर पहले भी शिकायत मिली थी कि वह स्ट्रीट डॉग से क्रूरता करता है।

Satna News: व्यापारी को मिली जान से मारने की धमकी, वाट्सएप पर लिखा – ‘तेरा एटीट्यूड मुझे पसंद नहीं’

करंट लगने से वृद्धा की मौत

भोपाल। कोलार इलाके में रहने वाली एक वृद्धा ने बाल्टी में पानी गर्म करने रखा और उसमें रॉड लगा दी। इसी बीच रॉड की वायर शॉट ओने के बाद में उसमें स्पार्किंग होने लगी और आग लग गई। महिला स्विच ऑफ करने गई, तभी उनकी साड़ी में आग लग गई। जिससे वृद्धा बुरी तरह से झुलस गई। चीख पुकार की आवाजें सुनने के बाद में आस पड़ोस के लोगों ने आग को बुझाया और उन्हें अस्पताल पहुंचाया। जहां चार दिन चले उपचार के बाद उनकी मौत हो गई। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच शुरु कर दी है।

मृतका के छोटे बेटे रामप्रसाद रजक ने बताया कि वह सोम डिस्लेरी में काम करता है। उनका बड़ा भाई करण रजक और पिता भवरलाल गांव में रहकर काश्तकारी करते हैं। जबकि मां 75 वर्षीय धापू बाई उनके साथ में सर्वधर्म ए सेक्टर दामखेड़ा में रहती थीं। पिछले बुधवार को मां ने नहाने के लिए पानी को गर्म करने एक बाल्टी में रखा था। जिसमें पानी गर्म करने वाली राड को डाल दिया।

पानी काफी देर तक गर्म होता रहा, इससे अधिक गर्म होने के कारण रॉड की डोरी शॉट हो गई। उसमें स्पार्किंग होने लगी। मां इसे बुझाने पहुंची, तभी उनकी साड़ी में आग लग गई। चीख पुकार की आवाजें सुनने के बाद में लोगों ने उन्हें आग की चपेट से बचाया और गंभीर हालत में उपचार के लिए अस्पताल पहुंचाया। जहां इलाज के दौरान बीती रात उनकी मौत हो गई। कोलार पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है। मामले की जांच की जा रही है।