Bhopal Crime
Bhopal Crime

Bhopal News: झाबुआ से अपने परिवार के साथ मजदूरी करने आई किशोरी के साथ एक युवक ने छोला मंदिर इलाके में दुष्कर्म किया। कुछ दिनों बाद उसका परिवार वापस लौट गया। किशोरी को जब तकलीफ होने लगी तो परिजनों ने पूछा। इस पर किशोरी ने उसके साथ हुए दुष्कर्म की बात बताई। मामले की शिकायत झाबुआ पुलिस को की गई थी। झाबुआ पुलिस ने जीरो पर कायमी करने के बाद प्रकरण को यहां भेज दिया। छोला मंदिर पुलिस ने बलात्कार का प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

छोला मंदिर थाना प्रभारी महेन्द्र सिंह चौहान ने बताया कि 17 वर्षीय किशोरी झाबुआ जिले के थांदला थाना क्षेत्र में रहती है। उसके परिवार में सभी लोग मजदूरी करते हैं। परिवार के साथ ही रिश्तेदार व गांव वालों की टोली मजूदरी के तलाश में अलग-अलग शहरों में जाती है। काम करने के लिए करीब चालीस लोगों की टोली झाबुआ से भोपाल आई हुई थी तथा छोला इलाके में रह रही थी।

जान से मारने की धमकी देकर चुप करा दिया-

वह अपने परिवार के साथ भानपुर स्थिल एक निर्माणाधीन बिल्डिंग में काम कर रही थी। यहां पर नरेन्द्र यादव नाम के युवक से उसकी पहचान हो गई। नरेन्द्र जेसीबी का ड्रायवर है तथा वह भी इसी परिसर में काम करता था। गत 6 जनवरी को किशोरी के परिवार के सभी लोग काम में व्यस्त थे तभी बिल्डिंग के दूसरे हिस्से में किशोरी को अकेला पाकर नरेन्द्र ने उसके साथ दुष्कर्म किया। उसने किशोरी को जान से मारने की धमकी देकर चुप भी करा दिया। कुछ दिन बाद परिवार वापस झाबुआ चला गया। यहां पर किशोरी को जब तकलीफ हुई तो उसे डॉक्टर को दिखाया गया। यहां पर पता चला कि उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए गए हैं।

परिजनों ने जब नाबालिग से पूछा तो उसने नरेन्द्र द्वारा किए गए दुष्कर्म के बारे में बता दिया। इसके बाद परिवार के साथ थाने जाकर किशोरी ने झाबुआ पुलिस को शिकायत कर दी। चूंकि घटनास्थल भोपाल का था इसलिए झाबुआ पुलिस ने जीरो पर कायमी करने के बाद प्रकरण भोपाल भेज दिया। अब छोला मंदिर पुलिस ने बलात्कार का प्रकरण दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

लुटेरों ने बाइक सवार को लूटा

भोपाल। अयोध्या नगर थाना क्षेत्र स्थित कंफर्ट कॉलोनी के पास मुख्य सड़क पर आटो से आए तीन लुटेरों ने बाइक सवार युवक को रोक लिया और उससे मोबाइल समेत दस हजार रुपए की नगदी छीन ली। पुलिस ने फरियादी की शिकायत पर तीनों लुटेरों के खिलाफ लूट का मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

एएसआई सिरोमणि सिंह ने बताया कि उमेश प्रसाद पिता स्वर्गीय विश्वेश्वर प्रसाद (45) झुग्गी अर्जुन नगर में रहते हैं। वे प्राइवेट काम करते हैं। शुक्रवार रात उमेश प्रसाद अपनी बाइक से नरेला संकरी की तरफ जा रहे थे। वे कंफर्ट पार्क कॉलोनी के सामने मुख्य सड़क पर पहुंचे ही थे कि एक आटो चालक ने ओवरटैक कर उन्हें रोक लिया। वे कुछ समझ पाते इससे पहले ही आरोपियों ने उनसे मारपीट की और उनसे मोबाइल और पर्स छीन लिया। पर्स में दस हजार रुपए की नगदी थी।

घटना की शिकायत उन्होंने तत्काल अयोध्या नगर पुलिस को की थी। पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद अज्ञात आटो सवार लुटेरों पर लूट का प्रकरण दर्ज कर लिया है।