Bhopal Crime
Bhopal Crime

भोपाल। सूखीसेवनिया इलाके में रहने वाली एक नाबालिग लड़की के साथ अपहरण के बाद बलात्कार का मामला सामने आया है। दरअसल, पीड़िता अपने पड़ोसी के बच्चे के जन्मदिन की पार्टी से घर लौट रही थी, तभी दो युवकों ने उसे जबरन अपनी बाइक पर बैठाया और एक खंडहर में ले जाकर एक युवक ने उसके साथ बलात्कार किया। जबकि दूसरा निगरानी करता था। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर अपहरण, बलात्कार समेत विभिन्न धाराओें के तहत केस दर्ज कर एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि दूसरे की तलाश की जा रही है।

एसआई स्वाती गौतम ने बताया कि इलाके में रहने वाली 17 वर्षीय नाबालिग ने कक्षा नवमीं तक पढ़ाई की है। पढ़ाई छोड़ने के बाद से घरेलू काम में अपनी मां का हाथ बंटाती है। रात उसके पड़ोसी के बच्चे का जन्मदिन था। वह परिजनों के साथ जन्मदिन की पार्टी में शामिल होने पहुंची थी। पार्टी खत्म होने पर परिजन पहले घर आ गए, जबकि लड़की वहीं रूक गई। रात करीब दस बजे वह अकेली पैदल अपने घर लौट रही थी। तभी गांव के अंकू और टिकू नाम के युवकों ने उसको अपनी बाइक पर जबरन बैठा लिया और कुछ दूर स्थित एक खंडहरनुमा मकान में लेकर पहुंचे। जहां पर अंकू ने उसके साथ डरा-धमकाकर बलात्कार किया।

जबकि उसका साथी टिकू निगरानी करता रहा। कुछ देर बाद परिजनों अपनी बेटी को तलाश करते हुए घटना स्थल पर पहुंचे। तब आरोपी अपनी बाइक छोड़कर फरार हो गए। अगले दिन पीड़िता ने परिजनों के साथ थाने पहुंच कर केस दर्ज कराया। पुलिस ने आरोपी अंकू को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि आरोपी टिकू की तलाश की जा रही है।

फुफेरे भाई ने आबरू लूटी, किया आप्रकृतिक कृत्य-

कोलार थाना पुलिस के मुताबिक इलाके में रहने वाली 14 वर्षीय किशोरी अपने माता-पिता के साथ शहर में पन्नी बीनने का काम करती है। सोमवार को वह घर पर ही थी, जबकि माता-पिता अपने काम पर गए थे। दोपहर करीब तीन बजे उसका फुफेरा भाई मूंदीखेड़ी आष्टा जिला सीहोर निवासी नतीज पारटी घर पहुंचा। जहां पर आरोपी ने उसके घर में अकेला पाकर जबरन बलात्कार किया। इतना ही नहीं आरोपी ने उसके साथ आप्रकृतिक संभोग किया।

इसी दौरान पीड़िता की मां घर पहुंच गई और उसने आरोपी को दबोच कर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने पीड़ित किशोरी की शिकायत पर आरोपी युवक के खिलाफ बलात्कार, आप्रकृतिक कृत्य, पोक्सो एक्ट के तहत प्रकरण दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

Bhopal Crime : पुराने लेन-देन का हवाला देकर ठेकेदार से की अड़ीबाजी

स्टूडेंट ने किचन में फांसी लगाकर की आत्महत्या

भोपाल। जहांगीराबाद थाना क्षेत्र में रहने वाले एक स्टूडेंट ने सोमवार को अपने घर की किचन में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस को कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। जिससे आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है। फिलहाल पुलिस मर्ग कायम कर मामले की जांच कर रही है।

एएसआई रामलक्ष्मण सिंह गुर्जर ने बताया कि एफ-1, डेरी कॉलोनी जहांगीराबाद निवासी देवाशीष राजपूत पुत्र निरंजन राजपूत(19) कॉलेज स्टूडेंट था। उसके पिता वेटनरी डॉक्टर हैं और इन दिनों वेटनरी मुख्यालय में पदस्थ हैं। जबकि उसकी मां ग्वालियर में नौकरी करती है। देवाशीष यहां अपने पिता और बड़ी बहन के साथ रहता था। सोमवार को पिता ड्यूटी पर गए थे। इसी दौरान शाम करीब सवा पांच बजे देवाशीष ने किचन में पंखे के कुंदे से रस्सी का फंदा बांधकर फांसी लगा ली। इसी दौरान बहन नहा रही थी।

इसी बीच पिता ने अपने बच्चों को कॉल किया तो दोनों ने कॉल अटेंड नहीं किया। इस पर वे खुद घर पहुंचे। जहां पर देखा कि उनका बेटा फांसी के फंदे पर लटका हुआ है। उन्होंने तुरंत रस्सी काट कर उसे जय प्रकाश अस्पताल पहुंचाया। जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पहुंची। पुलिस को घटना स्थल से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। हालांकि परिजनों ने बताया कि वह पिछले कुछ समय से डिप्रेशन में चल रहा था। उसने अपनी परेशानी की किसी से कोई जिक्र नहीं किया था। आज पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया जाएगा।